कम्प्युटर - संरचना

कम्प्युटर कई तरह के कलपुर्जों, अर्थात Hardware एवं प्रक्रिया सामग्री अर्थात Software के परस्पर समन्वयन से बनता है| सारे कल-पुर्जे (Hardwares) आपस में, एक-दुसरे से जुड़ कर कम्प्युटर का ढांचा तैयार करते हैं, और प्रकिया सामग्री (Softwares) हर पुर्जों से उनके लिए निर्दिष्ट कार्य करवाती है|


कम्प्युटर बनाने के लिए प्रयोग में आने वाले प्रमुख कल-पुर्जे (Hardwares) इस प्रकार है :-

१) केन्द्रीय प्रचालन तंत्र (CPU -Central Processing Unit, Processor):


इसे माईक्रोप्रोसेसर भी कहते हैं, यह कम्प्युटर का प्रमुख अंग होता है| माईक्रोप्रोसेसर में ही उपयोगकर्ता द्वारा निर्दिष्ट सभी निर्देशों पर कार्य किया जाता है, प्रोसेसर के तीन मुख्य खंड होते हैं, CU-कंट्रोल युनिट, ALU- अरिथमटिक एंड लोगिकल युनिट, तथा MU- मेमोरी युनिट| कंट्रोल युनिट सारी प्रक्रिया पर नियंत्रण रखता है तथा दिए गए निर्देशों के आधार पर कार्य को ALU या MU को वितरित करता है, तत्पश्चात उनके द्वारा दिए परिणाम को आगे भेजता है| इसे कम्प्युटर का मष्तिष्क भी कहा जाता है| इनकी कार्य-क्षमता किलोहर्ट्ज़, मेगाहर्ट्ज़ तथा गिगाहर्ट्ज़ आदी में नापी जाती है|

प्रोसेसर की कार्य-प्रणाली को बिट के आधार पर आँका जाता है, जैसे की ८-बिट, १६-बिट, ३२ -बिट एवं ६४-बिट। हर एक बिट में दो मान होते हैं (०० या ०१ या १० या ११) इस प्रकार ३२-बिट में कुल ३२ तक मान होते हैं। ३२-बिट प्रोसेसर एक समय में कुल ३२ तक के आंकडों पर कार्य करने में सक्षम होते हैं। एक प्रोसेसर में जितने अधिक बिट होंगे उनके कार्य करने की क्षमता एवं सटीकता उतनी ही प्रभावशाली होगी। ३२ -बिट प्रोसेसर ३२ -बिट एवं उससे कम क्षमता तक के ऑपरेटिंग सिस्टम एवं एप्लीकेशन पर ही कार्य कर सकता है ३२ -बिट प्रोसेसर ६४-बिट क्षमता के ऑपरेटिंग सिस्टम एवं एप्लीकेशन पर कार्य नहीं कर सकता। जबकि  ६४-बिट प्रोसेसर ३२ -बिट एवं उससे कम क्षमता तक के ऑपरेटिंग सिस्टम एवं एप्लीकेशन पर कार्य कर सकता है।



२) यादृच्छिक अभिगम स्मृति ( RAM-Random Access Memory):

RAM कम्प्युटर की अस्थाई स्मृति होती है, ये कम्प्युटर के प्राथमिक संग्रहण उपकरण होते हैं| इनका CPU के साथ सीधा संपर्क होता है, उपयोगकर्ता द्वारा भरी गई जानकारी तथा निर्देश ऑपरेटिंग सिस्टम से सर्वप्रथम RAM में आती है, फिर किसी भी जानकारी को CPU जरुरतानुसार RAM से लेता है, तथा क्रियान्वयन के पश्चात् उसे पुन: RAM के पास भेज देता है, जहाँ से उसे ऑपरेटिंग सिस्टम ग्रहण कर लेता है| RAM की स्मृति क्षणभंगुर होती है, जब तक कम्प्युटर में विद्युत प्रवाहित होता है, RAM की स्मृति तभी तक बनी रहती है, जैसे ही विद्युत प्रवाह खंडित होता है, RAM की स्मृति नष्ट हो जाती है परिणामस्वरूप उसमे स्थित सारी जानकारी लुप्त हो जाती है| इनकी क्षमता किलो बाईट, मेगाबाईट तथा गिगाबाईट आदी में नापी जाती है|

३) मुख्य तंत्र पटल (Main\System\Mother Board):

यह कई नामों से जाना जाता है जिनमे, मदरबोर्ड, सिस्टमबोर्ड तथा मैनबोर्ड ये ज्यादा चलन में है, कई बार इन्हें प्लानर भी कहा जाता है| ये एक प्रकार के सर्किटबोर्ड होते हैं जिनसे अन्य सभी पुर्जे एक विशेष प्रणाली के तहत परोक्ष या अपरोक्ष रूप से आपस में जुड़े हुए रहते है, जिससे सभी पुर्जों के बिच लगातार परस्पर समन्वयन एवं संवाद स्थापित रहता है| माइक्रोप्रोसेसर, RAM, चिपसेट, ग्राफिक कंट्रोलर, अन्य इनपुट-आउटपुट कंट्रोलर मदर बोर्ड पर ही स्थापित्य किये हुए होते हैं| इनकी कार्यक्षमता नापने की इकाई FSB (फ्रंट साइड बस) होती है|

४) अनम्यिका (HDD -Hard Disk):

ये कम्प्युटर के स्थाई स्मृति होते हैं| इनपर स्थापित किये गए जानकारी सदा के लिए बने रहते है| ये कम्प्युटर के द्वितीयक संग्रहण उपकरण होते हैं| इनकी क्षमता RAM से कहीं ज्यादा होती है, और ये ढेरों जानकारी संग्रह कर रखने में सक्षम होते हैं| ये RAM की तरह क्षणभंगुर नहीं होते, तथा विद्युत संचार बंद होने के बाद भी इनपर रक्षित की गयी जानकारी बनी रहती है| इन पर रक्षित की गयी जानकारी अमिट होती है, वे तभी मिटती हैं जब उपयोगकर्ता खुद उन्हें मिटाना चाहें| ये मदर बोर्ड के IDE (ATA) अथवा SATA कंट्रोलर से जुड़े होते हैं| इनकी क्षमता मेगाबाईट, गिगाबाईट, टेराबाईट, पीकाबाईट आदी में आंकी जाती है| यह कम्प्युटर में स्थायी रूप से बने रहते हैं इसीलिए दस्तावेज आदान-प्रदान के लिए सामान्यतया इन्हें एक कम्यूटर से निकाल कर दुसरे कम्प्युटर में नहीं लगाया जाता|


) सघन चक्रिका चालन (CD \ DVD Rom - Compact \ Video Disc Drive):

हार्ड डिस्क के विपरीत कॉम्पेक्ट डिस्क आसानी से निकाले जाने लायक होते है एवं आसानी से एक जगह से दूसरी जगह लाये ले जाए जा सकते हैं जिससे दस्तावेजों का आदान-प्रदान आसानी से किया जाता है|



) नम्यिका (FDD - Floppy Disk Drive):



) दृश्यपटल यंत्र / प्रदर्श (Monitor):




) कुंजीपटल यन्त्र (Keyboard):





) माउस (Mouse):



१०) पॉवर सप्लाई :




११) तंत्र पेटिका (System Cabinet ):


प्रक्रिया सामग्री (Softwares) के प्रकार :-
१) तंत्र प्रक्रिया सामग्री (System Softwares) : सिस्टम सॉफ्टवेयर कम्प्युटर के सभी अंगों का CPU के साथ सामंजस्य बैठाकर हर पुर्जों से उनके लिए निर्दिष्ट कार्य करवाता है| ऑपरेटिंग सिस्टम, सिस्टम सॉफ्टवेयर का प्रकार है| ये उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए निर्देशों को मशीनी भाषा में बदल कर CPU को देता है, और जब CPU उन निर्देशों को कार्यान्वित कर के परिणाम देता है तो उस परिणाम को मशीनी भाषा से पुन: हमारे समझने लायक भाषा में बदल कर दर्शाता है| माइक्रोसॉफ्ट विन्डोज़, लिनक्स, एप्पल मकींटोश, यूनिक्स आदि प्रमुख ऑपरेटिंग सिस्टम हैं| ऑपरेटिंग सिस्टम हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेर के बिच सामंजस्य स्थापित करता है|


२) अनुप्रयोग प्रक्रिया सामग्री (Aplications Softwares): ऍप्लिकेशन सॉफ्टवेयर का उपयोग दैनदिन होने वाले कार्यों को करनें के लिए किया जाता है| हर तरह के कार्य को करने के लिए एक विशिष्ट प्रकार के एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर होते हैं| दस्तावेज तैयार करने तथा संपादित करने के लिए, वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेर होता है| हिसाब-खिताब रखने तथा बही-खता बनाने के लिए स्प्रेडशीट सॉफ्टवेयर का प्रयोग होता है| छवि तथा चलचित्र का संपादन करने के लिए ग्राफिक सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हैं|


31 टिप्‍पणियां:

  1. aujhi tally09 ka janakari hindi me chahiye mujhe janakaridene ka kripa kare

    my name is vijay kumar

    उत्तर देंहटाएं
  2. mujhe to band kiya hua web site kaise kholte hai ye maherbani kar ke batayea ji,

    उत्तर देंहटाएं
  3. जी यदि कॊई वॆब साईट नहीं खुल रहा हो तो आप उस वॆब साईट को गूगल सर्च ईंजन में सर्च कर कॆ उस वॆब साईट के कॆश जॊ कि गूगल द्वरा ईक्ठ्ठा कर कॆ संजॊया हुआ रहता हॆ यदि उपलब्ध रहा तॊ बन्द वॆब साईट खुल सकता हॆ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. उत्तर
    1. बहुतो ने मुझसे ये सवाल पूछा की 32 bit और 64 bit विन्दोव्स में क्या अंतर है. जो सबसे बड़ा अंतर है वो है RAM का. 32 bit में maximum RAM का लिमिट है - 4 GB का जबकि 64 bit में आप maximum usable RAM लिमिट है - 8Tb (128 GB , 64 bit Vista में , और 192GB , विन्दोव्स 7 में). लेकिन यही एक अंतर नहीं जिसे ध्यान में रखना चाहिए नया PC लेते वक़्त. इसके अलावा भी बहुत सारी चीजे ध्यान में रखनी चाहिए. यहाँ में मैं लगभग उन सारी बातो पर रोशनी डालूँगा जो आपको पूरी आईडिया बताएगी की दोनों में क्या क्या अंतर होता है.

      हटाएं
  5. कंप्यूटर के 32 बिट प्रोसेसर क्या है

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रोसेसर की कार्यक्षमता को बिट के आधार पर आँका जाता है, जैसे की ८-बिट, १६-बिट, ३२-बिट एवं ६४-बिट।
      हर एक बिट में दो मान होते हैं (०० या ०१ या १० या ११) इस प्रकार ३२-बिट में कुल २^३२ तक मान होते हैं,
      जिससे की ३२-बिट प्रोसेसर एक समय में कुल २^३२ तक के आंकडों पर कार्य करने में सक्षम होते हैं।
      एक प्रोसेसर में जितने अधिक बिट होंगे उनके कार्य करने की क्षमता एवं सटीकता उतनी ही प्रभावशाली होगी।
      ३२-बिट प्रोसेसर ३२-बिट एवं उससे कम क्षमता के ऑपरेटिंग सिस्टम एवं एप्लीकेशन पर ही कार्य कर सकता है,
      ३२-बिट प्रोसेसर ६४-बिट क्षमता के ऑपरेटिंग सिस्टम एवं एप्लीकेशन पर कार्य नहीं कर सकता।
      जबकि ६४-बिट प्रोसेसर ३२-बिट एवं उससे कम क्षमता तक के ऑपरेटिंग सिस्टम एवं एप्लीकेशन पर कार्य कर सकता है।

      हटाएं
  6. बाइट बिट का आठ गुना।
    केबी एम बी कैसे बना॥
    गीगा टेरा क्या है होता।
    कितने बिट का बनता पेटा॥
    दो का आधार दस की घात।
    एक किलो की इतनी बात॥
    दस की घात बढ़ाते जाओ।
    आधार को स्थिर रखते जाओ॥
    दशमलव में दस आधार ।
    तीन की घात बढ़ा हर बार॥
    यही गुरु की भंडारण क्षमता।
    हजार गुना से नाम बदलता॥

    8 बिट = 1 बाईट
    1 किलोबाईट =1024 बाईट (210 )
    1 मेगाबाईट=1024X1024 बाईट (220 )
    1गीगाबाईट=1024X1024X1024 बाईट (230 )
    1 टेरा बाईट= 1024X1024X1024X1024 बाईट ((240 Read More : http://books.google.co.in/books?id=raRVq78byAUC

    उत्तर देंहटाएं
  7. सी पी यू की बोर्ड प्रिन्टर,
    साँचा मोडेम मूस मानीटर ।
    कार्ड कैमरा स्पीकर ड्राइव, 
    सब कम्प्यूटर के हार्डवेयर॥

    हार्डवेयर कंप्यूटर के हिस्सों को कहते हैं, जिन्हें हम अपनी आँखों से देख सकते हैं, छू सकते हैं अथवा औज़ारों से उन पर कार्य कर सकते हैं। ये वास्तविक पदार्थ हैं। इसके विपरीत सॉफ्टवेयर कोई पदार्थ नहीं है, ये वे सूचनाएँ, आदेश अथवा तरीक़े हैं जिनके आधार पर कंप्यूटर का हार्डवेयर कार्य करता है। कंप्यूटर हार्डवेयर सॉफ्टवेयर से परिचित होते हैं अथवा सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के हार्डवेयर से परिचित एवं उन पर आधारित होते हैं। हार्डवेयर का निर्माण कल-कारखानों में ही मशीनों व उपकरणों की सहायता से होता है, जबकि सॉफ्टवेयर कंप्यूटर ज्ञाता के मस्तिष्क की सोच द्वारा बनाए जाते हैं, जिनके आधार पर कल -कारखाने हार्डवेयर को उत्पादित करते हैं। सामान्य भाषा में कहा जाए तो सॉफ्टवेयर कंप्यूटर द्वारा स्वीकृत विनिर्देश होते हैं जिनके माध्यम से कंप्यूटर कार्य करते हैं। कंप्यूटर हार्डवेयरों के निर्माण में उच्च टेक्नोलोजी का इस्तेमाल किया जाता है। सॉफ्टवेयर कंप्यूटर सिद्धांतों के आधार पर हार्डवेयर के लिए आवश्यक निर्देश होते हैं, इन्हें तैयार करने के लिए किसी कारखाने की आवश्यकता नहीं होती। कोई भी व्यक्ति जो कंप्यूटर के मूल सिद्धांतों एवं कार्य प्रणाली से परिचित हो अपने मस्तिष्क के उपयोग से सॉफ्टवेयर तैयार कर सकता है।
    Read More: http://unlimitedmemory.tripod.com

    उत्तर देंहटाएं
  8. उत्तर
    1. princesspranjali maurya जी,

      ब्रैकेट में जो २१० लिखा हुआ है वो श्री N. L. Shraman जी के पुस्तक "Bhoolana Bhool Jaaoge" का पृष्ठ नं. जान पड़ता है... कड़ी उन्होंने संलग्न किया हुआ है… परोक्ष रूप से २१० का "1 किलोबाईट =1024 बाईट" से कोई संदार्ब नहीं है….

      हटाएं
    2. कृपया संदार्ब को सन्दर्भ पढ़ें ...

      हटाएं
  9. aur sir ye kb, mb gb tak to pata hai but ye tera byte ye kab aur kisme use hota hai plz reply soon

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. princesspranjali maurya जी,

      1०२४ गिगाबाइट = १ टेराबाईट होता है, किलो बाईट, मेगा बाईट, गिगा बाईट की तरह ही टेरा बाईट यह भी हार्डडिस्क की स्मृति क्षमता दर्शाने की ईकाई है...

      ० अथवा १ को Bit अर्थात बाइनरी डिजिट (Binary Digit)कहा जाता है.

      ८-Bit = १ बाईट (Byte) (उदा. १०११००१०)
      १०२४ (2^10) बाईट = १ किलो बाईट (KB) / 1,000 Thousand (K)
      १०२४ KB(2^20) बाईट = १ मेगा बाईट (MB) / 10,00,000 = One Million (M)
      १०२४ MB (2^30) बाईट = १ गिगा बाईट (GB) / 1,00,00,00,000 = One Billion (B)
      १०२४ GB (2^40) बाईट = १ टेरा बाईट (TB) / 10,00,00,00,00,000 = One Trillion (T)

      हटाएं
  10. उत्तर
    1. बाइनरी नंबर द्विआधारी संख्या प्रणाली है जिसमे किन्हीं दो संख्याओं (जैसे ०, १) का प्रयोग गणनात्मक कार्यों को करने हेतु किया जाता है; यद्यपि हम २,३ या ५,८ या ४,० जैसे संख्याओं का प्रयोग भी अपनी सुविधा हेतु कर सकते हैं, किन्तु ०,१ संख्या सहजता बनाये रखने हेतु प्रयोग में लाया जाता है। कम्पुटर विज्ञान में "द्विआधारीय संख्या प्रणाली" का उपयोग "लॉजिक गेट्स" से प्राप्त TRUE or FALSE (or ON / OFF) अवस्थाओं को अंकित (दर्शाने) के लिए किया जाता है।
      अधिक जानकारी हेतु निचे दिए कड़ी पर जाएँ ..

      द्वयाधारी संख्या पद्धति । हिन्दी विकिपीडिया

      हटाएं
  11. उत्तर
    1. अंशु जी, प्रोसेसर की कार्यक्षमता उसके इस्तेमाल किये जाने पर निर्भर होता है, वैसे १०-१५ साल तक भी चल जाते हैं. परन्तु तकनीकी विकास को ध्यान में रखा जाये तो ४-५ साल में नए प्रोसेसर की आवश्यकता महसूस होने लगती है.

      हटाएं
  12. उत्तर
    1. Dear Mahto ji,

      Bus विभिन्न कॉम्पोनेन्ट्स के मध्य संचार स्थापित करता है..
      यूँ समझें की BUS राष्ट्रिय महामार्ग की तरह होता है जो महानगरों को एक दूसरे से जोड़ता है...
      BUS अपने आप में कोई कॉम्पोनेन्ट नहीं होता, यह एक वर्किंग कांसेप्ट है...

      हटाएं
  13. उत्तर
    1. Ajeet Kumar ji,

      मदरबोर्ड PC का सर्वाधिक महत्वपूर्ण अंग होता है, जैसे हमारे घर में माँ सभी कार्यों को सुचारू रूप से नियंत्रित एवं कार्यान्वित करती हैं, तथा जरुरत पड़ने पर परिवार के विभिन्न सदस्यों के बीच सामंजस्य बनाती है,
      ठीक वैसे ही मदरबोर्ड PC के सभी पुर्जों के कार्यप्रणाली को संचारित करती है, एवं एक कलपुर्जे को अन्य के साथ संचार स्थापित करने में सहायक होती है। मदरबोर्ड के जरिये ही सभी पुर्जों को जरुरी बिजली का प्रवाह प्राप्त होता है।
      RAM, CPU, Graphic Card, Network Adapter, Hard Disk, CD/DVD Drive, Key Board, Mouse इत्यादि मदर बोर्ड से जुड़े रहते हैं. इसी प्रकार से अन्य पुर्जे जरुरत पड़ने पर मदर बोर्ड के सम्बंधित Adapter के जरिये जोड़े जाते हैं, जैसे , Printer, Scanner, Web Cam, Speaker, Microphone, पेनड्राइव, मोबाइल फ़ोन, डिजिटल कैमरा, टीवी इत्यादि।

      हटाएं
  14. प्रोसेसर और गीगा हर्ट्ज़ के बारे में बताएँ ॥
    प्रोसेसरों में गीगा हर्ट्ज़ का क्या किरदार होता है और इसकी अहमियत क्या है इसके कम या ज्यादा होने से किस किस पर और क्या क्या फर्क पड़ता है ॥
    और इन सब से फोन की स्पीड कैसे निर्धारित होती है कई बार लिखा होता है 650 बिट क्वालकॉम स्नेपड्रेगन प्रोसेसर यह क्या होता है और ईसका क्या काम होता है ॥

    उत्तर देंहटाएं